CUET : DU St Stephen to move SC against HC order may delay admissions

CUET : DU St Stephen to move SC against HC order may delay admissions





सेंट स्टीफंस कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया पर दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश को शिक्षण संस्थान द्वारा उच्चतम न्यायालय में चुनौती दिये जाने की संभावना है। एक सूत्र ने मंगलवार को यह जानकारी दी। साथ ही, दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) का यह संस्थान इस साल पहले की तरह ही छात्रों को प्रवेश देने के लिए अंतरिम राहत प्रदान करने का अदालत से अनुरोध कर सकता है। कॉलेज की संचालन इकाई के सदस्यों ने भविष्य की रणनीति पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को बैठक की। उन्होंने उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख करने का फैसला किया। सदस्यों में से एक ने यह जानकारी दी। यह इकाई संस्थान की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च संस्था है।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले उच्च न्यायालय ने कॉलेज को डीयू द्वारा तैयार की गई प्रवेश नीति का पालन करने को कहा था। इस नीति के मुताबिक, स्नातक पाठ्यक्रमों में गैर अल्पसंख्यक छात्रों को प्रवेश देने के लिए विश्वविद्यालय साझा प्रवेश परीक्षा (सीयूईटी) 2022 के अंकों को 100 प्रतिशत वेटेज देना होगा। यानी दाखिला सिर्फ सीयूईटी अंकों के आधार पर ही दिया जाए।

     

कॉलेज ने अपनी ओर से कहा था कि वह सीयूईटी के अंकों को 85 प्रतिशत और सभी श्रेणियों के उम्मीदवारों के लिए साक्षात्कार को 15 प्रतिशत वेटेज देगा।

CUET से सपने हुए चकनाचूर, नॉर्मलाइजेशन से घट गए असल मार्क्स, छात्रों ने NTA को सुनाई खरी खोटी

     

दाखिले के लिए साक्षात्कार प्रक्रिया को छोड़ने से कॉलेज के इनकार करने पर डीयू ने कहा था कि सीयूईटी के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करते हुए कॉलेज द्वारा लिये गये सभी दाखिले को अमान्य घोषित करने के अपने फैसले पर वह दृढ़ है।

     

सूत्र ने कहा कि संचालन इकाई के 17 सदस्य बैठक में शामिल हुए, जिनमें से पांच सदस्य शीर्ष न्यायालय का रुख करने के प्रस्ताव के खिलाफ हैं।

     

सूत्र ने कहा, ”हालांकि, कॉलेज की संचालन इकाई ने उच्च न्यायालय के आदेश को चुनौती देने और उच्चतम न्यायालय का रुख करने का फैसला किया है। कॉलेज साक्षात्कार लेकर प्रवेश देने की प्रक्रिया के लिए अंतरिम राहत का अनुरोध करेगा।”

     

कानून के एक छात्र की याचिका पर 12 सितंबर को उच्च न्यायालय का इस संबंध में आदेश आया था।