Harsha Engineers Ipo Opens: Mp, Ipo Details, Listing Everything You Need To Know – Harsha Engineers Ipo: हर्षा इंजीनियर्स का आईपीओ खुला, क्या है ग्रे मार्केट प्रीमियम? जानें महत्वपूर्ण डिटेल्स

Harsha Engineers Ipo Opens: Mp, Ipo Details, Listing Everything You Need To Know – Harsha Engineers Ipo: हर्षा इंजीनियर्स का आईपीओ खुला, क्या है ग्रे मार्केट प्रीमियम? जानें महत्वपूर्ण डिटेल्स


ख़बर सुनें

इंजीनियरिंग और सोलर ईपीसी के कारोबार में जुटी कंपनी हर्षा इंजीनियर्स का इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) बुधवार (14 सितंबर) से खुल रहा है। इस आईपीओ के जरिए कंपनी 755 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है। कंकपनी ने आईपीओ के तहत 314 से 330 रुपये का प्राइस बैंड तय किया है। 

बता दें कि हर्ष इंजीनियर्स 1986 में बने हर्षा ग्रुप का हिस्सा है। ग्रुप को इंजीनियरिंग के कारोबार में 35 वर्षों से अधिक का अधिक का अनुभव है। इस कंपनी की शुरुआत 11 दिसंबर 2010 को हुई थी। यह देश में आय के लिहाज से प्रसीजन बेयरिंग केज की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी है। देश के ऑर्गेनाइज्ड बेरिंग केज सेगमेंट में 50-60% मार्केट शेयर है. पीतल, स्टील और पॉलीएमाइड बेरिंग केज के ग्लोबल ऑर्गेनाइज्ड मार्केट में 6.5% हिस्सा है.

45 शेयराें का है लॉट साइज 

हर्षा इंजीनियर्स का आईपीओ 14 सितंबर को खख्ुलकर 17 सितंबर को बंद होगा। इसके आईपीओ का लॉट साइज 45 शेयर का है। एक लाट के लिए कम से कम 14,850 रुपये का निवेश करना जरूरी होगा। हर्षा इंजीनियर्स के आईपीओ में 455 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों का एक नया इश्यू और मौजूदा शेयरधारकों की ओर से ₹300 करोड़ तक का ऑफर-फॉर-सेल (ओएफएस) शामिल है।

बुधवार को सुबह दस बजकर दस मिनट पर कंपनी का आईपीओ 0.06 गुना सब्सक्राइब किया गया। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के अनुसार इसे रिटेल कैटेगरी में इसे 0.09 गुना, एनआइआई में 0.06 गुना जबकि कर्मचारियों के लिए आरक्षित कैटेगरी में इसे 0.10 गुना सब्सक्राइब किया गया है।

ऋण भुगतान और मशीनरी की खरीदारी पर खर्च होगी आईपीओ से जुटी राशि

हर्षा इंजीनियर्स के आईपीओ से प्राप्त राशि का उपयोग ऋण भुगतान, मशीनरी की खरीद, कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के वित्तपोषण, बुनियादी ढांचे की मरम्मत और मौजूदा उत्पादन सुविधाओं के नवीनीकरण और सामान्य कॉरपोरेट प्रस्तावों के लिए किया जाएगा।

बाजार के जानकारों के मुताबिक हर्षा इंजीनियर्स के शेयर आज ग्रे मार्केट में 210 रुपये के प्रीमियम (जीएमपी) पर उपलब्ध हैं। कंपनी के शेययर 26 (सितंबर) सोमवार को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध हो सकते हैं।

विस्तार

इंजीनियरिंग और सोलर ईपीसी के कारोबार में जुटी कंपनी हर्षा इंजीनियर्स का इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) बुधवार (14 सितंबर) से खुल रहा है। इस आईपीओ के जरिए कंपनी 755 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है। कंकपनी ने आईपीओ के तहत 314 से 330 रुपये का प्राइस बैंड तय किया है। 

बता दें कि हर्ष इंजीनियर्स 1986 में बने हर्षा ग्रुप का हिस्सा है। ग्रुप को इंजीनियरिंग के कारोबार में 35 वर्षों से अधिक का अधिक का अनुभव है। इस कंपनी की शुरुआत 11 दिसंबर 2010 को हुई थी। यह देश में आय के लिहाज से प्रसीजन बेयरिंग केज की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी है। देश के ऑर्गेनाइज्ड बेरिंग केज सेगमेंट में 50-60% मार्केट शेयर है. पीतल, स्टील और पॉलीएमाइड बेरिंग केज के ग्लोबल ऑर्गेनाइज्ड मार्केट में 6.5% हिस्सा है.

45 शेयराें का है लॉट साइज 

हर्षा इंजीनियर्स का आईपीओ 14 सितंबर को खख्ुलकर 17 सितंबर को बंद होगा। इसके आईपीओ का लॉट साइज 45 शेयर का है। एक लाट के लिए कम से कम 14,850 रुपये का निवेश करना जरूरी होगा। हर्षा इंजीनियर्स के आईपीओ में 455 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयरों का एक नया इश्यू और मौजूदा शेयरधारकों की ओर से ₹300 करोड़ तक का ऑफर-फॉर-सेल (ओएफएस) शामिल है।

बुधवार को सुबह दस बजकर दस मिनट पर कंपनी का आईपीओ 0.06 गुना सब्सक्राइब किया गया। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के अनुसार इसे रिटेल कैटेगरी में इसे 0.09 गुना, एनआइआई में 0.06 गुना जबकि कर्मचारियों के लिए आरक्षित कैटेगरी में इसे 0.10 गुना सब्सक्राइब किया गया है।

ऋण भुगतान और मशीनरी की खरीदारी पर खर्च होगी आईपीओ से जुटी राशि

हर्षा इंजीनियर्स के आईपीओ से प्राप्त राशि का उपयोग ऋण भुगतान, मशीनरी की खरीद, कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के वित्तपोषण, बुनियादी ढांचे की मरम्मत और मौजूदा उत्पादन सुविधाओं के नवीनीकरण और सामान्य कॉरपोरेट प्रस्तावों के लिए किया जाएगा।

बाजार के जानकारों के मुताबिक हर्षा इंजीनियर्स के शेयर आज ग्रे मार्केट में 210 रुपये के प्रीमियम (जीएमपी) पर उपलब्ध हैं। कंपनी के शेययर 26 (सितंबर) सोमवार को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध हो सकते हैं।