Hemkund Sahib Yatra 2022: A Group Of Sikh Pilgrims Came From Pakistan For Yatra – Hemkund Sahib Yatra 2022: पाकिस्तान से हेमकुंड की यात्रा पर आया 48 सिख यात्रियों का जत्था

Hemkund Sahib Yatra 2022: A Group Of Sikh Pilgrims Came From Pakistan For Yatra – Hemkund Sahib Yatra 2022: पाकिस्तान से हेमकुंड की यात्रा पर आया 48 सिख यात्रियों का जत्था


ख़बर सुनें

पाकिस्तान के पेशावर से 48 सिख श्रद्धालुओं का जत्था हेमकुंड साहिब की यात्रा पर सोमवार को घांघरिया पहुंचा। सभी यात्री मंगलवार को हेमकुंड साहिब पहुंचेंगे।पाकिस्तान से आए श्रद्धालुओं का जत्था शनिवार शाम को गोविंदघाट पहुंचा था और सोमवार सुबह छह बजे उन्होंने घांघरिया के लिए प्रस्थान किया।

Kedarnath: तीर्थयात्रियों का उमड़ा हुजूम, गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश बंद, अब सभामंडप से होंगे बाबा के दर्शन

ग्रुप लीडर तेतेंद्र पाल सिंह ने बताया कि उनके ग्रुप के सभी लोग पहली बार उत्तराखंड आए हैं। यहां आकर मानसिक सुकून मिल रहा है। प्रकृति के सुंदर नजारों को देखने का मौका मिला है। उन्होंने बताया कि मंगलवार सुबह वे हेमकुंड साहिब के लिए प्रस्थान करेंगे। वहां पवित्र सरोवर में स्नान के बाद हेमकुंड साहिब के दर्शन कर दरबार में मत्था टेकेंगे।

Badrinath Highway: बड़ी संख्या में धाम के लिए रवाना हुए तीर्थयात्री, नरकोटा में लगा तीन किलोमीटर लंबा जाम

शाम को वापस घांघरिया लौटेंगे। 21 को गोविंदघाट और 22 सितंबर को ऋषिकेश के लिए रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि यहां सभी लोग परिवार के साथ आए हैं। दो लोग 70-70 साल के भी हैं। सभी हेमकुंड साहिब की यात्रा पर पहली बार आए हैं।

गोविदंघाट गुरुद्वारा के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि पाकिस्तान में रह रहे सिख श्रद्धालुओं की हेमकुुंड साहिब में अटूट आस्था है। वहां से हर साल तीर्थयात्रियों का जत्था यहां पहुंचता है।

विस्तार

पाकिस्तान के पेशावर से 48 सिख श्रद्धालुओं का जत्था हेमकुंड साहिब की यात्रा पर सोमवार को घांघरिया पहुंचा। सभी यात्री मंगलवार को हेमकुंड साहिब पहुंचेंगे।पाकिस्तान से आए श्रद्धालुओं का जत्था शनिवार शाम को गोविंदघाट पहुंचा था और सोमवार सुबह छह बजे उन्होंने घांघरिया के लिए प्रस्थान किया।

Kedarnath: तीर्थयात्रियों का उमड़ा हुजूम, गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश बंद, अब सभामंडप से होंगे बाबा के दर्शन

ग्रुप लीडर तेतेंद्र पाल सिंह ने बताया कि उनके ग्रुप के सभी लोग पहली बार उत्तराखंड आए हैं। यहां आकर मानसिक सुकून मिल रहा है। प्रकृति के सुंदर नजारों को देखने का मौका मिला है। उन्होंने बताया कि मंगलवार सुबह वे हेमकुंड साहिब के लिए प्रस्थान करेंगे। वहां पवित्र सरोवर में स्नान के बाद हेमकुंड साहिब के दर्शन कर दरबार में मत्था टेकेंगे।

Badrinath Highway: बड़ी संख्या में धाम के लिए रवाना हुए तीर्थयात्री, नरकोटा में लगा तीन किलोमीटर लंबा जाम

शाम को वापस घांघरिया लौटेंगे। 21 को गोविंदघाट और 22 सितंबर को ऋषिकेश के लिए रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि यहां सभी लोग परिवार के साथ आए हैं। दो लोग 70-70 साल के भी हैं। सभी हेमकुंड साहिब की यात्रा पर पहली बार आए हैं।

गोविदंघाट गुरुद्वारा के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि पाकिस्तान में रह रहे सिख श्रद्धालुओं की हेमकुुंड साहिब में अटूट आस्था है। वहां से हर साल तीर्थयात्रियों का जत्था यहां पहुंचता है।