Kedarnath Dham: Entry Of Devotees In Sanctum Sanctorum Closed After Huge Crowd Of Pilgrims Gathered In Dham – Kedarnath: तीर्थयात्रियों का उमड़ा हुजूम, गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश बंद, अब सभामंडप से होंगे बाबा के दर्शन

Kedarnath Dham: Entry Of Devotees In Sanctum Sanctorum Closed After Huge Crowd Of Pilgrims Gathered In Dham – Kedarnath: तीर्थयात्रियों का उमड़ा हुजूम, गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश बंद, अब सभामंडप से होंगे बाबा के दर्शन


केदारनाथ में इन दिनों उमड़ती भक्तों की भीड़ को देखते हुए मंदिर 14 से 15 घंटे खुल रहा है। यात्रियों की भीड़ के चलते मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है। अब भक्तों को सभामंडप से ही दर्शन कराए जा रहे हैं। 

Char Dham Yatra: बारिश कम होते ही धामों में उमड़ने लगी भीड़, दिनभर लगा रहा श्रद्धालुओं का तांता, तस्वीरें

इस वर्ष छह मई से शुरू हुई केदारनाथ यात्रा में दर्शनार्थियों का नया रिकॉर्ड बना है। यात्रा के पहले ही दिन 23,512 श्रद्धालुओं ने बाबा केदार के दर्शन किए थे। इसके बाद मई माह के 26 दिनों में ही 4 लाख से अधिक श्रद्धालु केदारनाथ पहुंच गए थे।

इस दौरान जब भी यात्रियों की भीड़ बढ़ी तब बीकेटीसी ने मंदिर के गर्भगृह से दर्शन व्यवस्था बंद की। इसके बाद मानसून सीजन में यात्रियों की संख्या में कुछ कमी आई। अब बारिश कम होने पर बीते दस दिनों से केदारनाथ में यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है, जिस कारण बीकेटीसी ने गर्भगृह से दर्शन की व्यवस्था बंद कर दी है।

बीते तीन दिनों से सभामंडप से ही भक्तों को दर्शन कराए जा रहे हैं। श्रीबदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के कार्यकारी (एसीओ) रमेश चंद्र तिवारी ने बताया कि यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए गर्भगृह से दर्शन की व्यवस्था अस्थायी तौर पर बंद की गई है।

अब सुबह पांच बजे से दर्शन शुरू हो रहे हैं जो अपराह्न तीन बजे तक कराए जा रहे हैं। इसके बाद आराध्य को भोग लगाया जा रहा है, जिसके चलते एक से डेढ़ घंटे के लिए मंदिर को बंद किया जा रहा है। साढ़े चार बजे से पुन: मंदिर में दर्शन शुरू हो रहे हैं जो रात नौ बजे तक कराए जा रहे हैं।

वहीं, केदारनाथ में दर्शनार्थियों की संख्या 1204547 पहुंच गई है। बीते दस दिनों से धाम में प्रतिदिन श्रद्घालुओं की संख्या बढ़ रही है। इस वर्ष अब यात्रा के सिर्फ 38 दिन रह गए हैं। जिस तरह से यात्रियों की संख्या बढ़ रही है, उससे उम्मीद है कि कपाट बंद होने तक यात्रियों की संख्या 15 लाख तक पहुंच सकती है।

यात्रा के लिए सरकार ने पंजीकरण अनिवार्य किया है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा करने के लिए तीर्थयात्री और श्रद्धालु पर्यटन विभाग की वेबसाइट http://registrationandtouristcare.uk.gov.in पर ऑनलाइन पंजीकरण करें। वहीं, केदारनाथ हेली सेवा के लिए https://heliservices.uk.gov.in पर ऑनलाइन बुकिंग करें।