Monkeys Attack Spanish Woman Again At Taj Mahal – Monkeys Attack: ताजमहल में नहीं थम रहा बंदरों का उत्पात, एक बार फिर स्पेनिश महिला को काटा

Monkeys Attack Spanish Woman Again At Taj Mahal – Monkeys Attack: ताजमहल में नहीं थम रहा बंदरों का उत्पात, एक बार फिर स्पेनिश महिला को काटा


ख़बर सुनें

आगरा में तीन दिन के अंदर दूसरी बार स्पेनिश पर्यटक को ताजमहल का दीदार करने के दौरान बंदरों ने काट लिया। स्पेन की पर्यटक क्रिस्टीना बुधवार को जब टिकट काउंटर से ताजमहल का टिकट खरीद रहीं थी, तब बंदरों के झुंड ने उन पर हमला कर दिया। बचते बचते भी उनके पैर में बंदर ने काट लिया, जिस पर गाइड ने उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया। पर्यटक क्रिस्टीना को एंटी रैबीज इंजेक्शन लगवाया गया है। एक सप्ताह में बंदरों के काटने की यह ताजमहल में छठवीं घटना है।

बंदरों के हमले और काटने से घबराई स्पेनिश पर्यटक क्रिस्टीना ने कहा कि यह बेहद खौफनाक अनुभव रहा, जब बंदरों ने उन पर हमला किया। ताज केपूर्वी गेट पर जब यह घटना हुई, तब अन्य पर्यटक भी बंदरों के हमले से दहशत में आ गए। ताज के अंदर मेहमानखाने की ओर बंदरों के उत्पात मचाने का वीडियो भी पर्यटकों ने सोशल मीडिया पर वायरल किया है, जिसमें चमेली फर्श पर 100 से ज्यादा बंदरों का झुंड ताज में घूमता और गुलाटियां मारता नजर आ रहा है।

स्पेन की सांड्रा हो चुकी शिकार

दो दिन पहले सोमवार सुबह स्पेन की एक और पर्यटक सांड्रा के पैर में बंदरों ने काट लिया था। तब वहां मौजूद फोटोग्राफर योगेश पारस ने उनके पैर में पट्टी बांधकर प्राथमिक उपचार किया था। सांड्रा को शांति मांगलिक अस्पताल में एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगवाकर दिल्ली भेज दिया गया था। उसी दिन 8 साल के बच्चे शोएब की पीठ पर बंदर ने काट लिया था।
 

ये कहा अधीक्षण पुरातत्वविद ने…

वहीं इस मामले की जानकारी देते हुए अधीक्षण पुरातत्वविद राजकुमार पटेल ने बताया कि ‘हमने अपने कुछ कर्मचारियों को डंडे लेकर ताज में बंदरों के आतंक वाले हिस्सों में तैनात किया है। बंदरों को पकड़ने के लिए नगर निगम और वन विभाग को पत्र भी लिखे हैं। यह उनके अधिकार क्षेत्र का मामला है।’

विस्तार

आगरा में तीन दिन के अंदर दूसरी बार स्पेनिश पर्यटक को ताजमहल का दीदार करने के दौरान बंदरों ने काट लिया। स्पेन की पर्यटक क्रिस्टीना बुधवार को जब टिकट काउंटर से ताजमहल का टिकट खरीद रहीं थी, तब बंदरों के झुंड ने उन पर हमला कर दिया। बचते बचते भी उनके पैर में बंदर ने काट लिया, जिस पर गाइड ने उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया। पर्यटक क्रिस्टीना को एंटी रैबीज इंजेक्शन लगवाया गया है। एक सप्ताह में बंदरों के काटने की यह ताजमहल में छठवीं घटना है।

बंदरों के हमले और काटने से घबराई स्पेनिश पर्यटक क्रिस्टीना ने कहा कि यह बेहद खौफनाक अनुभव रहा, जब बंदरों ने उन पर हमला किया। ताज केपूर्वी गेट पर जब यह घटना हुई, तब अन्य पर्यटक भी बंदरों के हमले से दहशत में आ गए। ताज के अंदर मेहमानखाने की ओर बंदरों के उत्पात मचाने का वीडियो भी पर्यटकों ने सोशल मीडिया पर वायरल किया है, जिसमें चमेली फर्श पर 100 से ज्यादा बंदरों का झुंड ताज में घूमता और गुलाटियां मारता नजर आ रहा है।

स्पेन की सांड्रा हो चुकी शिकार

दो दिन पहले सोमवार सुबह स्पेन की एक और पर्यटक सांड्रा के पैर में बंदरों ने काट लिया था। तब वहां मौजूद फोटोग्राफर योगेश पारस ने उनके पैर में पट्टी बांधकर प्राथमिक उपचार किया था। सांड्रा को शांति मांगलिक अस्पताल में एंटी रैबीज का इंजेक्शन लगवाकर दिल्ली भेज दिया गया था। उसी दिन 8 साल के बच्चे शोएब की पीठ पर बंदर ने काट लिया था।

 

ये कहा अधीक्षण पुरातत्वविद ने…

वहीं इस मामले की जानकारी देते हुए अधीक्षण पुरातत्वविद राजकुमार पटेल ने बताया कि ‘हमने अपने कुछ कर्मचारियों को डंडे लेकर ताज में बंदरों के आतंक वाले हिस्सों में तैनात किया है। बंदरों को पकड़ने के लिए नगर निगम और वन विभाग को पत्र भी लिखे हैं। यह उनके अधिकार क्षेत्र का मामला है।’