Rishikesh-gangotri Highway: Road Closed In Ratnogad Due To Debris After Landslide – Rishikesh-gangotri Highway: मलबा आने से रत्नोगाड़ में रास्ता बंद, वाहनों की लगी लंबी कतार, 250 लोग फंसे

Rishikesh-gangotri Highway: Road Closed In Ratnogad Due To Debris After Landslide – Rishikesh-gangotri Highway: मलबा आने से रत्नोगाड़ में रास्ता बंद, वाहनों की लगी लंबी कतार, 250 लोग फंसे


ख़बर सुनें

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे रत्नोगाड़ के समीप मलबा आने से बंद हो गया जिससे हाईवे पर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई। हाईवे के दोनों तरफ से वाहनों की लंबी कतार लग गई। देर शाम तक हाईवे के दोनों तरफ लगभग 250 लोग फंसे रहे। खबर लिखे जाने तक हाईवे बंद रहा।

Char Dham Yatra: बारिश कम होते ही धामों में उमड़ने लगी भीड़, दिनभर लगा रहा श्रद्धालुओं का तांता, तस्वीरें

रविवार अपराह्न 3:30 बजे अचानक ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर रत्नोगाड़ के समीप चट्टान से भारी भूस्खलन हो गया और मलबा व पत्थर भरभरा कर हाईवे पर जा गिरा। गनीमत रही कि इस दौरान वहां से कोई वाहन नहीं गुज रहा था। बिना बारिश के ही रत्नोगाड़ के समीप चट्टान से भूस्खलन हो रहा है।

लोगों ने बताया कि सुबह आठ बजे के लगभग भी भूस्खलन हुआ लेकिन तब बीआरओ ने तुरंत मलबा हटा दिया था लेकिन अपराह्न 3:30 बजे यहां फिर से भूस्खलन होने लगा। यहां रुक-रुक कर मलबा लगातार हाईवे पर गिर रहा है। हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइन लगी रही। वहीं जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी बृजेश भट्ट ने बताया कि रत्नोगाड़ में हाईवे से मलबा और बोल्डर हटाने के लिए जेसीबी लगी है। देर शाम तक हाईवे खुलने की उम्मीद है।

पर्थाडीप में दो घंटे बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

बदरीनाथ हाईवे पर पर्थाडीप भूस्खलन क्षेत्र परेशानी का सबब बन गया है। यहां मलबा आने से हाईवे बार-बार बाधित हो रहा है। रविवार को भी सुबह सात से नौ बजे तक हाईवे बंद रहा जिससे यहां जाम लग गया। दो घंटे बाद जेसीबी ने मलबा हटाया तो हाईवे खुल गया। भूस्खलन क्षेत्र में पहाड़ी से बोल्डरों के छिटकने का भी खतरा बना हुआ है जिसे देखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से यहां हाईवे के दोनों ओर चार पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है।

नंदप्रयाग की नगर पंचायत अध्यक्ष डा. हिमानी वैष्णव का कहना है कि पर्थाडीप में हाईवे से मलबे को हटाने के लिए अतिरिक्त जेसीबी की तैनाती की जानी चाहिए। इधर, एनएचआईडीसीएल के एजीएम आरके श्रीवास्तव का कहना है कि पर्थाडीप में पहाड़ी से लगातार भूस्खलन हो रहा है। यहां हिल साइड के मलबे को हटाया जा रहा है। अधिक समय तक हाईवे बंद नहीं होने दिया जा रहा है। 

विस्तार

ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे रत्नोगाड़ के समीप मलबा आने से बंद हो गया जिससे हाईवे पर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई। हाईवे के दोनों तरफ से वाहनों की लंबी कतार लग गई। देर शाम तक हाईवे के दोनों तरफ लगभग 250 लोग फंसे रहे। खबर लिखे जाने तक हाईवे बंद रहा।

Char Dham Yatra: बारिश कम होते ही धामों में उमड़ने लगी भीड़, दिनभर लगा रहा श्रद्धालुओं का तांता, तस्वीरें

रविवार अपराह्न 3:30 बजे अचानक ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर रत्नोगाड़ के समीप चट्टान से भारी भूस्खलन हो गया और मलबा व पत्थर भरभरा कर हाईवे पर जा गिरा। गनीमत रही कि इस दौरान वहां से कोई वाहन नहीं गुज रहा था। बिना बारिश के ही रत्नोगाड़ के समीप चट्टान से भूस्खलन हो रहा है।

लोगों ने बताया कि सुबह आठ बजे के लगभग भी भूस्खलन हुआ लेकिन तब बीआरओ ने तुरंत मलबा हटा दिया था लेकिन अपराह्न 3:30 बजे यहां फिर से भूस्खलन होने लगा। यहां रुक-रुक कर मलबा लगातार हाईवे पर गिर रहा है। हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लंबी लाइन लगी रही। वहीं जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी बृजेश भट्ट ने बताया कि रत्नोगाड़ में हाईवे से मलबा और बोल्डर हटाने के लिए जेसीबी लगी है। देर शाम तक हाईवे खुलने की उम्मीद है।

पर्थाडीप में दो घंटे बंद रहा बदरीनाथ हाईवे

बदरीनाथ हाईवे पर पर्थाडीप भूस्खलन क्षेत्र परेशानी का सबब बन गया है। यहां मलबा आने से हाईवे बार-बार बाधित हो रहा है। रविवार को भी सुबह सात से नौ बजे तक हाईवे बंद रहा जिससे यहां जाम लग गया। दो घंटे बाद जेसीबी ने मलबा हटाया तो हाईवे खुल गया। भूस्खलन क्षेत्र में पहाड़ी से बोल्डरों के छिटकने का भी खतरा बना हुआ है जिसे देखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से यहां हाईवे के दोनों ओर चार पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है।

नंदप्रयाग की नगर पंचायत अध्यक्ष डा. हिमानी वैष्णव का कहना है कि पर्थाडीप में हाईवे से मलबे को हटाने के लिए अतिरिक्त जेसीबी की तैनाती की जानी चाहिए। इधर, एनएचआईडीसीएल के एजीएम आरके श्रीवास्तव का कहना है कि पर्थाडीप में पहाड़ी से लगातार भूस्खलन हो रहा है। यहां हिल साइड के मलबे को हटाया जा रहा है। अधिक समय तक हाईवे बंद नहीं होने दिया जा रहा है।