School Bathroom Roof Collapses Girl Dies Many Injured Accident Uttarakhand News In Hindi – Uttarakhand: स्कूल के बाथरूम की छत से गिरने से बड़ा हादसा, तीसरी में पढ़ने वाले छात्र की मौत, पांच बच्चे घायल

School Bathroom Roof Collapses Girl Dies Many Injured Accident Uttarakhand News In Hindi – Uttarakhand: स्कूल के बाथरूम की छत से गिरने से बड़ा हादसा, तीसरी में पढ़ने वाले छात्र की मौत, पांच बच्चे घायल


ख़बर सुनें

स्कूल की बाथरूम की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया। इस दुर्घटना में तीसरी में पढ़ने वाले छात्र चंदन सिंह लडवाल (9) पुत्र गोधन सिंह की मौत हो गई जबकि पांच बच्चे घायल हो गए। हादसे की खबर सुनते ही गांव में मातम पसर गया। बच्चों के परिजन दौड़े-दौड़े स्कूल पहुंचे। स्कूल में हुए इस हादसे से अन्य बच्चे भी डरे सहमे हैं। 

चंपावत में गुरुवार सुबह पाटी मोनकांडा प्राइमरी विद्यालय की बाथरूम की छत गिरने से कक्षा तीन में पढ़ने वाली बच्ची की मौत होने से स्कूल में हड़कंप मच गया। वहीं पांच बच्चे भी घायल हो गए। हादसे की खबर सुनकर स्कूल पहुंचे अभिभावकों में गुस्सा है। 

ये भी पढ़ें…आफत की बारिश: चीन सीमा को जोड़ने वाली सड़क मलघाट में पांच दिन से बंद, जान हथेली पर रखकर नदी पार कर रहे लोग

बेटे का शव देख मृतका हेमा की मां बेसुध हो गई। वह एक टक लगाकर अपनी मासूम  की लाश देखती रही। वहीं घायल बच्चों के परिजन अपने बच्चों की सलामती मांग रही है। अपनी आंखों के सामने अपने बच्चों का ऐसा हाल देख अभिभावकों का गुस्सा थम नहीं रहा है। 

विस्तार

स्कूल की बाथरूम की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया। इस दुर्घटना में तीसरी में पढ़ने वाले छात्र चंदन सिंह लडवाल (9) पुत्र गोधन सिंह की मौत हो गई जबकि पांच बच्चे घायल हो गए। हादसे की खबर सुनते ही गांव में मातम पसर गया। बच्चों के परिजन दौड़े-दौड़े स्कूल पहुंचे। स्कूल में हुए इस हादसे से अन्य बच्चे भी डरे सहमे हैं। 

चंपावत में गुरुवार सुबह पाटी मोनकांडा प्राइमरी विद्यालय की बाथरूम की छत गिरने से कक्षा तीन में पढ़ने वाली बच्ची की मौत होने से स्कूल में हड़कंप मच गया। वहीं पांच बच्चे भी घायल हो गए। हादसे की खबर सुनकर स्कूल पहुंचे अभिभावकों में गुस्सा है। 

ये भी पढ़ें…आफत की बारिश: चीन सीमा को जोड़ने वाली सड़क मलघाट में पांच दिन से बंद, जान हथेली पर रखकर नदी पार कर रहे लोग

बेटे का शव देख मृतका हेमा की मां बेसुध हो गई। वह एक टक लगाकर अपनी मासूम  की लाश देखती रही। वहीं घायल बच्चों के परिजन अपने बच्चों की सलामती मांग रही है। अपनी आंखों के सामने अपने बच्चों का ऐसा हाल देख अभिभावकों का गुस्सा थम नहीं रहा है।