Struggling Indian Team Aims To Give Fitting Farewell To Jhulan Goswami – Ind Vs Eng: झूलन गोस्वामी को जीत के साथ विदा करना चाहेगी भारतीय महिला टीम, सीरीज जीतने का मौका

Struggling Indian Team Aims To Give Fitting Farewell To Jhulan Goswami – Ind Vs Eng: झूलन गोस्वामी को जीत के साथ विदा करना चाहेगी भारतीय महिला टीम, सीरीज जीतने का मौका


ख़बर सुनें

भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड के दौरे पर अब तक कुछ खास नहीं कर पाई है। इंग्लैंड की टीम में कप्तान हीदर नाइट सहित तीन अहम खिलाड़ी नहीं हैं। इसके बावजूद भारत को टी20 सीरीज में हार का सामना करना पड़ा है। 2-1 से टी20 सीरीज हारने के बाद भारत की कोशिश वनडे सीरीज में जीत हासिल करने पर होगी। यह तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी की आखिरी सीरीज भी होगी। महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली इस गेंदबाज को टीम इंडिया विजयी विदाई देना चाहेगी। 

वनडे सीरीज जीतने के लिए भारत को सभी विभागों में अपने खेल में सुधार लाना होगा। टी20 सीरीज में भारत की बल्लेबाजी और फील्डिंग खासी खराब थी। इसी वजह से टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा। अब वनडे सीरीज में कप्तान हीदर नाइट सहित तीन खिलाड़ी नहीं हैं। ऐसे में भारतीय टीम वनडे सीरीज अपने नाम करना चाहेगी। 

मध्यक्रम में कप्तान हरमनप्रीत कौर के अलावा कोई खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी है। इस सीरीज में हेमलता को मौका दिया गया, लेकिन वह भी कुछ खास प्रभाव नहीं छोड़ पाई हैं। जेमिमा रोड्रिग्स भी टीम का हिस्सा हैं, लेकिन उनकी फिटनेस अभी भी सवालों के घेरे में है। द हंड्रेड में चोटिल होने के बाद वह पूरे टूर्नामेंट से बाहर हो गई थीं। अब इस सीरीज के लिए फिट हो पाना उनके लिए चुनौतीपूर्ण होगा। 

यास्तिका भाटिया को टीम से बाहर कर दिया गया था। ऐसे में उनके ऊपर भी अच्छे प्रदर्शन का दबाव होगा। भारत के लिए स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर अच्छी बल्लेबाजी कर रही हैं, लेकिन शेफाली वर्मा को अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने की जरूरत है। 

झूलन गोस्वामी के जाने के बाद तेज गेंदबाजी में भी ज्यादा विकल्प नहीं हैं। रेणुका सिंह अब अपनी फॉर्म और लय हासिल कर चुकी हैं, लेकिन अभी भी टीम इंडिया विदेशों में भी अच्छे प्रदर्शन के लिए स्पिन गेंदबाजों पर निर्भर है। यह सीरीज आईसीसी की महिला वनडे चैम्पियनशिप का हिस्सा है, जिसके आधार पर 2025 विश्व कप के लिए टीमें चुनी जाएंगी। 

हीदर नाइट की गैरमौजूदगी में एमी जोंस इंग्लैंड की टीम की अगुवाई करेंगी। एलिस कैपेसी और फ्रेया केम्प, जिन्होंने टी20 में प्रभावित किया था। उन्हें वनडे टीम में भी मौका दिया गया है। मुख्य कोच लिसा केइटली ने सीरीज की शुरुआत से पहले कहा, “यह एक और बड़ी सीरीज है, विशेष रूप से आईसीसी महिला विश्व कप के लिहाज से। लॉर्ड्स में समाप्त होने वाली गर्मियों के साथ उत्साहित होने के लिए बहुत कुछ है।”

टीमें इस प्रकार हैं

भारत: हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना (उप-कप्तान), शेफाली वर्मा, सबबिनेनी मेघना, दीप्ति शर्मा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), यास्तिका भाटिया (विकेटकीपर), पूजा वस्त्राकर, स्नेह राणा, रेणुका ठाकुर, मेघना सिंह, राजेश्वरी गायकवाड़, हरलीन देओल, दयालन हेमलता, सिमरन दिल बहादुर, झूलन गोस्वामी, जेमिमा रोड्रिग्स।

इंग्लैंड: एमी जोन्स, टैमी ब्यूमाउंट, लॉरेन बेल, मैया बाउचर, एलिस कैप्सी, केट क्रॉस, फ्रेया डेविस, एलिस डेविडसन-रिचर्ड्स, चार्ली डीन, सोफिया डंकले, सोफी एक्लेस्टोन, फ्रेया केम्प, इस्सी वोंग, डैनी याट।

विस्तार

भारतीय महिला क्रिकेट टीम इंग्लैंड के दौरे पर अब तक कुछ खास नहीं कर पाई है। इंग्लैंड की टीम में कप्तान हीदर नाइट सहित तीन अहम खिलाड़ी नहीं हैं। इसके बावजूद भारत को टी20 सीरीज में हार का सामना करना पड़ा है। 2-1 से टी20 सीरीज हारने के बाद भारत की कोशिश वनडे सीरीज में जीत हासिल करने पर होगी। यह तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी की आखिरी सीरीज भी होगी। महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली इस गेंदबाज को टीम इंडिया विजयी विदाई देना चाहेगी। 

वनडे सीरीज जीतने के लिए भारत को सभी विभागों में अपने खेल में सुधार लाना होगा। टी20 सीरीज में भारत की बल्लेबाजी और फील्डिंग खासी खराब थी। इसी वजह से टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा। अब वनडे सीरीज में कप्तान हीदर नाइट सहित तीन खिलाड़ी नहीं हैं। ऐसे में भारतीय टीम वनडे सीरीज अपने नाम करना चाहेगी।