Three Children Kidnapped From Central Station In Kanpur – Kanpur Kidnapping Case: सेंट्रल स्टेशन से तीन बच्चों का अपहरण, मदद के लिए भटकती रही मां, जानें पूरा मामला

Three Children Kidnapped From Central Station In Kanpur – Kanpur Kidnapping Case: सेंट्रल स्टेशन से तीन बच्चों का अपहरण, मदद के लिए भटकती रही मां, जानें पूरा मामला


ख़बर सुनें

कानपुर में सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर 14-15 सितंबर को ट्रेन पकड़ने के लिए आई महिला के तीन बच्चों का अपहरण हो गया। मैनपुरी-इटावा सीमा पर बसे एक गांव निवासी पूजा देवी के 20 दिनों के दो जुड़वां दुधमुंहे बेटे और दो साल का एक बेटा बच्चा चोर गिरोह उठा ले गया। महिला तीन बच्चों को गिरोह में शामिल तीन महिलाओं और एक पुरुष को देखरेख के लिए देकर टिकट लेने गई थी।

जब वह लौटी तो सभी गायब थे। महिला ने जीआरपी से इसकी शिकायत की थी, आरोप है कि चार दिनों तक महिला को चक्कर कटवाने के बाद जीआरपी ने 19 सितंबर को अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की। जीआरपी प्रभारी आरके द्विवेदी के मुताबिक अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज से अपहरणकर्ताओं की पहचान की कोशिश की जा रही है।

पूजा देवी के मुताबिक उसके पति प्रमोद मुंबई में ट्रक ड्राइवर हैं। वह अगस्त के आखिरी दिनों में ट्रेन से अपने मायके वाराणसी जा रही थी। कानपुर में उसे प्रसव पीड़ा हुई, तो कानपुर में ही किसी अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसे एक सितंबर को जुड़वा बेटे हुए। दो साल का एक बेटा और साढ़े तीन साल की बेटी पहले से थी।

पूजा के मुताबिक 14-15 सितंबर को वह सेंट्रल स्टेशन आई और वाराणसी या मैनपुरी जाने के लिए ट्रेन का इंतजार करने लगी। उसके पास टिकट नहीं था और चार बच्चों के साथ सामान भी बहुत था। तभी उसके पास बैठी तीन महिलाएं और एक पुरुष उससे बातचीत करने लगे। इनमें से एक का नाम राजू और लक्ष्मी था।

पूजा अपने तीन बच्चों को उन्हें थमाकर टिकट लेने के लिए अपनी साढ़े तीन साल की बेटी को लेकर चली गई, लौटी तो सभी गायब थे। चार दिनों तक जीआरपी थाने के चक्कर काटने के बाद पुलिस ने सोमवार को अपहरण की धारा 363 के तहत रिपोर्ट दर्ज की। महिला के अनुसार जीआरपी ने उसके साथ एक महिला को इटावा तक भेजा था लेकिन बच्चों का सुराग नहीं लगा।

जीआरपी और महिला की कहानी में अंतर
जीआरपी के मुताबिक महिला के जुड़वा बेटे सैफई मेडिकल कॉलेज में हुए, जबकि महिला का कहना है कि कानपुर के एक बड़े अस्पताल में उसने बच्चों को जन्म दिया है। जीआरपी ने पीड़िता का नाम रीता बताया जबकि पीड़िता ने अपना नाम पूजा देवी और पति का नाम प्रमोद कुमार बताया। जीआरपी के अनुसार घटनास्थल सिटी साइड का है। वहीं महिला कैंट साइड के आसपास बता रही है।

अफवाह के बीच बच्चा चोरी की घटना से दहशत
प्रदेश में बच्चा चोरी की अफवाह के बीच कानपुर सेंट्रल पर तीन बच्चों की चोरी होने से हड़कंप मच गया है। जानकारी से लोगों में दहशत है और वह इस मामले का खुलासा चाह रहे हैं। कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर रोती बिलखती महिला का दर्द जिन लोगों ने भी जाना, वह विचलित हो गए हैं। सोशल मीडिया पर रेलवे स्टेशनों से बच्चे चुराने वाले सीसीटीवी फुटेज भी शेयर कर रहे हैं। ऐसे में बच्चा चोरी की घटना से इसकी चर्चाएं और तेजी से होने लगी हैं।

विस्तार

कानपुर में सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर 14-15 सितंबर को ट्रेन पकड़ने के लिए आई महिला के तीन बच्चों का अपहरण हो गया। मैनपुरी-इटावा सीमा पर बसे एक गांव निवासी पूजा देवी के 20 दिनों के दो जुड़वां दुधमुंहे बेटे और दो साल का एक बेटा बच्चा चोर गिरोह उठा ले गया। महिला तीन बच्चों को गिरोह में शामिल तीन महिलाओं और एक पुरुष को देखरेख के लिए देकर टिकट लेने गई थी।

जब वह लौटी तो सभी गायब थे। महिला ने जीआरपी से इसकी शिकायत की थी, आरोप है कि चार दिनों तक महिला को चक्कर कटवाने के बाद जीआरपी ने 19 सितंबर को अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की। जीआरपी प्रभारी आरके द्विवेदी के मुताबिक अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज से अपहरणकर्ताओं की पहचान की कोशिश की जा रही है।