UG University exam 2022: Prof Rajendra Singh Rajju Bhaiya State University 9607 students found guilty in copying in third year examination exam canceled





प्रो. राजेन्द्र सिंह (रज्जू भय्या) राज्य विश्वविद्यालय की स्नातक तृतीय वर्ष परीक्षा में 9607 परीक्षार्थी सामूहिक नकल में दोषी पाए गए हैं। अनफेयर मीन्स (यूएफएम) कमेटी की रिपोर्ट पर बुधवार को आयोजित विश्वविद्यालय की परीक्षा समिति की बैठक में दोषी छात्रों की परीक्षा निरस्त कर दी गई। साथ ही 242 छात्र-छात्राओं को नकल के आरोप से मुक्त कर दिया गया है। दोषी छात्रों को अब 2022-23 सत्र की परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा।

राज्य विश्वविद्यालय की 2021-22 सत्र की वार्षिक परीक्षा में सीसीटीवी कैमरों, कंट्रोल रूम एवं उड़ाका दलों की रिपोर्ट के आधार पर 9849 छात्र-छात्राएं सामूहिक नकल के दोषी पाए गए थे। विश्वविद्यालय प्रशासन ने इन्हें एक साल के लिए डिबार करने का निर्णय लिया था। हालांकि बाद में इन परीक्षार्थियों के अनुरोध पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंतिम अवसर प्रदान करते हुए प्रत्यावेदन मांगे थे। प्रत्यावेदन परीक्षण की जिम्मेदारी यूएफएम कमेटी को दी गई थी। आठ हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने खुद को निर्दोष बताते हुए प्रत्यावेदन दिए थे। जांच में कमेटी ने 9607 परीक्षार्थियों को सामूहिक नकल का दोषी पाया और 242 को बरी कर दिया।

राज्य विवि ने 242 छात्र-छात्राओं को किया आरोपमुक्त● दोषी छात्रों को अब अगली परीक्षा में मिलेगा मौका

परीक्षा समिति की बैठक में यूएफएम कमेटी की संस्तुति पर 9607 परीक्षार्थियों की परीक्षा निरस्त कर दी गई है। इन परीक्षार्थियों को अब सत्र 2022-23 की स्नातक तृतीय वर्ष की परीक्षा में फिर से शामिल होने का मौका मिलेगा। प्रो. अखिलेश कुमार सिंह, कुलपति