UPSC IAS Exam : A complete UPSC Civil Services preparation guide for school students by ips officer

UPSC IAS Exam : A complete UPSC Civil Services preparation guide for school students by ips officer





UPSC IAS Exam : आईपीएस ऑफिसर डॉ. नवजोत सिमी ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट कर बताया है कि 9वीं से 12वीं कक्षा तक के छात्र – छात्राएं कैसे स्कूल से ही यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते हैं। डॉक्टर से आईपीएस बनीं नवजोत सिमी की यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2017 में 735वीं रैंक आई थी। नवजोत ने इस वीडियो में उन बच्चों को काफी कारगर टिप्स दिए हैं जो स्कूल से ही IAS IPS अफसर बनने के सपने संजोने लगते हैं और यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू करना चाहते हैं। इस वीडियो में उन्होंने 10 चीजों – सिलेबस, जनरल स्टडीज, न्यूज पेपर, ऑप्शनल विषय, एग्जाम का मीडियम, तैयारी की जगह, कोचिंग, नोट्स मेकिंग, वेल्यू, टाइम टेबल के बारे में बताया है। 

नवजोत सिमी ने कहा ‘स्टूडेंट्स सबसे पहले इंटरनेट से यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस डाउनलोड कर लें। उसका प्रिंट आउट निकाल लें और अच्छी तरह पढ़ें। अभी बहुत सी चीजें आपको समझ में नहीं आएगी। लेकिन जैसे जैसे आपकी क्लास बड़ी होती जाएगी, आपको वो समझ में आने लगेगी। पिछले सालों के प्रश्न पत्र भी पढ़ने की कोशिश करें।’ 

वीडियो में उन्होंने यूपीएससी एग्जाम पैटर्न भी समझाया है और बताया है कि कौन कौन से पेपर कितने नंबर के होते हैं। फाइनल चयन कैसे होता है। उन्होंने स्कूली बच्चों ने कहा कि उन्होंने रोजाना न्यूजपेपर पढ़ने की आदत डालनी चाहिए। स्कूल के समय में ऑप्शनल विषय की टेंशन न लें। एनसीईआरीटी बुक्स पर ही फोकस करें।

UPSC : फिर चर्चा में वो IPS ऑफिसर जिसने पीएम मोदी के पेचीदे सवाल का दिया था शानदार जवाब

उन्होंने बच्चों से कहा कि परीक्षा की तैयारी के लिए उन्होंने दिल्ली या किसी बड़े शहर में जाने की जरूरत नहीं है। आजकल वह ऑनलाइन मोड से घर बैठे तैयारी कर सकते हैं। अगर कोचिंग करनी ही है तो वह ऑनलाइन मोड से कर सकते हैं। मेरा मानना है कि कोचिंग कोई अनिवार्य नहीं है। कोचिंग बिना भी सफलता पाई जा सकती है। मैं मार्केट से टेस्ट पेपर लेकर प्रैक्टिस किया करती थी। स्कूल लेवल पर स्टूडेंट्स नोट्स बनाने के लिए अलग अलग विषय की कॉपियां बना सकते हैं। इसमें महत्वपूर्ण टॉपिक्स की बातें लिख सकते हैं। बाद में ये आपकी हेल्प करेंगे। छात्रों को सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि टारगेट लंबा सेट न करें। एक एक सप्ताह का टारगेट सेट करें। 

उन्होंने कहा कि तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स में कुछ वैल्यूज भी होना जरूरी है- अनुशासन, समर्पित और फोकस होना जरूरी है। सकारात्मक रहना जरूरी है। मेहनत करने वालों के साथ ही भाग्य होता है।