UPTET 2021: Case passed in court for five months now TET marksheet will be available

UPTET 2021: Case passed in court for five months now TET marksheet will be available


UPTET 2021: परिषदीय प्राथमिक स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती से बीएड डिग्रीधारियों को बाहर करने के विवाद के बीच उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2021 का परिणाम घोषित होने के पांच महीने बाद परीक्षा में सफल डीएलएड अभ्यर्थियों को प्रमाणपत्र वितरित करने की तैयारी है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में प्रमाणपत्र छपकर आ चुके हैं। सितंबर अंत तक जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डायट) को वितरण के लिए भेजे जाएंगे। 

सूत्रों के अनुसार डायट प्राचार्यों को यह निर्देश दिया जा रहा है कि जब तक हाईकोर्ट का फैसला न आ जाए तब तक बीएड अभ्यर्थियों को प्रमाणपत्र न दिया जाए। राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश को आधार बनाते हुए बीएड वालों को प्राथमिक स्तर की टीईटी का प्रमाणपत्र जारी नहीं करने की मांग को लेकर प्रतीक मिश्र समेत चार अन्य डीएलएड प्रशिक्षुओं ने हाईकोर्ट में याचिका की है, जो विचाराधीन है।

इस मामले में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) और राज्य सरकार की ओर से हाईकोर्ट में जवाब लगाया जा चुका है। शिक्षक भर्ती के लिए टीईटी का प्रमाणपत्र अनिवार्य है। यही कारण है कि डीएलएड प्रशिक्षु नहीं चाहते की प्रमाणपत्र बीएड अभ्यर्थियों को वितरित किया जाए। एनसीटीई ने 28 जून 2018 को अधिसूचना जारी कर बीएड अभ्यर्थियों को कक्षा एक से पांच तक के स्कूलों में शिक्षक भर्ती में मान्य कर लिया था। हाल के वर्षों में डीएलएड बेरोजगारों की संख्या बढ़ने के कारण ये बीएड का विरोध कर रहे हैं।

टीईटी में 6.60 लाख अभ्यर्थी हुए थे पास

आठ अप्रैल को घोषित टीईटी के परिणाम में 6.60 लाख अभ्यर्थी पास हुए थे। 21 जनवरी को आयोजित प्राथमिक स्तर की टीईटी के लिए पंजीकृत 12,91,628 अभ्यर्थियों में से 11,47,090 परीक्षा में सम्मिलित हुए और उनमें से 4,43,598 (38.67 या 39 प्रतिशत) पास थे। उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी के लिए पंजीकृत 8,73,553 अभ्यर्थियों में से 7,65,921 परीक्षा में सम्मिलित हुए। इनमें से 2,16,994 (28.33 या 28 प्रतिशत) पास हुए थे।

यूपीटीईटी 2021 के मुख्य बिंदु:

-पांच महीने बाद मिलेगा टीईटी का अंकपत्र

-आठ अप्रैल को घोषित हुआ था शिक्षक पात्रता परीक्षा का परिणाम

-प्राथमिक में 4,43,598 व उच्च प्राथमिक में 2,16,994 हैं सफल

-परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में छपकर पहुंचे प्रमाणपत्र